Teleportation संभव है, वैज्ञानिको ने दिया प्रमाण

वैज्ञानिकों का मानना है कि 1000 साल के समय में यह वास्तव में एक संभावना हो सकती है। विशेषज्ञ टेलीपोर्ट करने में सक्षम हैं। कनाडाई वैज्ञानिकों ने सफलतापूर्वक प्रकाश की गति से छोटे परमाणुओं को तेजी से टेलीपोर्ट किया था। लेकिन विशेषज्ञ क्वांटम यांत्रिकी के जटिल सिद्धांत को समझने का दावा करते हैं और कहते है कि मनुष्यों को भी उसी तरह से स्थानांतरित किया जा सकता है।

विशेषज्ञ का कहना है की हमें रोकने वाली एकमात्र चीज यह है कि ऐसा करने के लिए भारी मात्रा में ऊर्जा और जटिल कंप्यूटिंग तकनीकी की आवश्यकता है। लेकिन मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के प्रोफेसर साज सैनी का मानना है कि यह संभव हो सकता है क्योंकि तकनीकी और ऊर्जा स्रोतों में सुधार होता जा रहा है। क्वांटम उलझन नामक छोटी छोटी समझ वाली घटना के माध्यम से इस जानकारी को मापना और एकत्र करना संभव है।

ऐसा करने में कुछ समस्याएं हैं-

परमाणुओं को एक नई साइट पर ले जाने से पहले निकटता पर संपर्क करने की आवश्यकता होती है। क्योंकि यह टारडीस में कूदने जितना आसान नहीं है।सैनी कहते हैं सिद्धांत रूप में हम वस्तुओं को टेलीपोर्ट कर सकते हैं। यहां तक कि लोगों को लेकिन वर्तमान में ऐसा लगता है कि हम बड़ी वस्तुओं में ट्रिलियन के क्वांटम राज्यों को माप सकते हैं और उन्हें कहीं और फिर से बना सकते हैं। इस कार्य और ऊर्जा की जटिलता खगोलीय है। तो अब हम विश्वसनीय रूप से एकल परमाणुओं में इलेक्ट्रॉनों को परिवहन कर सकते हैं।

हम चीजों को कैसे टेलीपोर्ट कर सकते हैं?

वैज्ञानिक पहले से ही एकल परमाणुओं में इलेक्ट्रॉनों को टेलीपोर्ट करने में सक्षम हैं। क्योंकि यही वह है जिसे हम बनाते हैं। यह परमाणुओं की क्वांटम स्थिति है। किसी भी वस्तु को टेलीपोर्ट करने के लिए उस वस्तु की जानकारी को उस बिंदु पर छापन चाहिए जहां इस वस्तु को टेलीपोर्ट किया जा रहा है। तो मान लो की बेसबॉल के क्वांटम राज्य की गणना लंदन में की जा रही है तो भारत में वस्तु को टेलीपोर्ट के लिए प्रेषित किया जाएगा।

एकमात्र समस्या यह है कि क्वांटम राज्य को मापना बहुत मुश्किल है और वस्तु जितना बड़ा होगा उतना अधिक परमाणु की आवश्यकता होगी। इसके अलावा, टेलीपोर्ट को पूरा करने के लिए आवश्यक ऊर्जा की मात्रा “खगोलीय” होनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.