सड़े हुए अंडे जैसी बदबू देता है यूरेनस

सड़ा हुआ अंडा कैसा बदबू देता है, आप इससे भली-भांति अवगत होंगे। इसकी बदबू को बर्दाश्त करना मुश्किल हो जाता है। ऐसी ही बदबू आपको यूरेनस पर भी मिलेगी। यह जानकारी हैरान करने वाली जरूर है, लेकिन इसके पीछे एक वैज्ञानिक वजह है।

यूरेनस के ऊपरी वातावरण में जो बादल हैं, वे हाइड्रोजन सल्फाइड से बने हैं। ये वही माॅलिक्यूल हैं, जो सड़े हुए अंडे में बदबू पैदा कर देते हैं। ईंग्लैंड में यूनिवर्सिटी आॅफ लेकिस्टियर के ग्रहीय वैज्ञानिक लेग फ्लेचर ने बताया कि यदि यूरेनस पर जाना संभव होता और आप वहां पिकनिक मनाने के लिए जाते, तो आपका पूरा मजा किरकिरा हो जाता, क्योंकि आप इसकी बदबू को झेल ही नहीं पाते।

टेलीस्कोप के जरिये-

हवाई में एक जेमिनी नाॅर्थ टेलीस्कोप का इस्तेमाल करते हुए फ्लेचर और उनके सहयोगियों ने यूरेनस के बादलों में हाइड्रोजन सल्फाइड के केमिकल फिंगरप्रिंट की पहचान की है। उनका यह शोध जर्नल एस्ट्रोनाॅमी के ताजा अंक में प्रकाशित हुआ है। इसमें यह भी देखा गया है कि हाइड्रोजन सल्फाइड यूरेनस के वातावरण में भी मिल रहा है।

एकदम अलग-

हैरान करने वाली बात यह है कि पहले कभी इसका पता नहीं चल सका था। यह पहला ऐसा मौका है, जब यह जानकारी सामने आई है। ये बादल बहुत बदबू देते हैं। उनकी जो यह बदबू है, यह इस ग्रह को बृहस्पति और शनि से अलग श्रेणी में खड़ा कर देती है। हमारे सौरमंडल के ग्रहों में से किसी एक ग्रह के बारे में इस तरह की जानकारी पहले कभी नहीं सामने आई थी।

बड़ी दूरी पर-

शोधकर्ताओं का मानना है कि हाइड्रोजन सल्फाइड अमोनिया से भी अधिक तेजी से जमा देने वाले तापमान में जम जाती है। ऐसे में यह हो सकता है सौरमंडल की शुरुआत के वक्त ये प्रचुर मात्रा में मौजूद रहे हों। ग्रहों के निर्माण के समय भी इनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही होगी। इससे यह भी साफ हो गया है कि बड़े ग्रह जैसे मंगल और शनि का निर्माण यूरेनस से बड़ी दूरी पर हुआ होगा।

भेजेंगे स्पेसक्राफ्ट-

फ्लेचर ने कहा कि इससे गैस की विशाल मात्रा और बर्फ की विशाल मात्रा के अलग-अलग रूप के बारे में जानकारी मिलती है। इसका मतलब यह हुआ कि जब सौरमंडल का निर्माण हो रहा था, तो अलग-अलग ग्रहों को अलग-अलग तरह के मैटेरियल मिले थे। इसके लिए वैज्ञानिक अब यूरेनस पर एक स्पेसक्राफ्ट भेजने की योजना बना रहे हैं, ताकि और जानकारी मिल सके।

दोस्तों, विज्ञान संबंधी यह जानकारी यदि आपको पसंद आई हो तो इसे लाइक और शेयर करें। साथ ही इस तरह की रोचक व ज्ञानवर्धक जानकारियां आगे भी हासिल करते रहने के लिए हमें फाॅलो करना भी न भूलें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.