सितारों के जहाँ में खो गया है 270 करोड़ का यह भारतीय उपग्रह

भारत ने एक साथ कई उपग्रह छोड़कर दुनिया को दिखा दिया की वह कमजोर नहीं है। 2018 में इसरो का हर महीने एक लॉन्च या मिशन करने का विचार है। और एक ऐसा ही कारनाम़ा करने के लिये जीसैट-6ए एक संचार उपग्रह छोड़ा था।

जिसे हैंडहेल्ड रिसीवर के ज़रिए मल्टीमीडिया संचार देने के मक़सद से भेजा गया था लेकीन उससे इसरो का संर्पक टुट जाने के कारण भारत सफल नहीं हो पाया। इसे बनाने की लागत 270 करोड़ रुपये थी। ऐसा माना जा रहा है कि कहीं न कहीं पावर सिस्टम या

एंटीना सिस्टम में ख़राबी आ गई थी जिसकी वजह से भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी से उसका संपर्क टूट गया और अब वो अंतरिक्ष में एक पत्थर की तरह चक्कर लगा रहा है। इसरो का कहना है कि वो लगातार उससे संपर्क साधने की कोशिश कर रहे हैं जिससे 270 करोड़ के नुकसान से बचा जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.