मंगल ग्रह पर जीवन होने का ठोस सबूत मिला, कई सालों पहले मंगल ग्रह पर जीवन मौजूद था

इंपीरियल कॉलेज लंदन के वैज्ञानिकों ने डोरसेट की अम्लीय धाराओं में जैविक कोशिकाओं के फैटी एसिड प्रमुख बिल्डिंग ब्लॉक के निशान पाए हैं। वे कहते हैं कि डोरसेट और मंगल ग्रह पर अम्लीय धाराओं की समानता के कारण उनके निष्कर्ष बताते हैं कि जीवन मंगल ग्रह पर एक बार अस्तित्व में हो सकता है। रेड प्लैनेट में अपने निष्कर्षों को लागू करके उन्होंने निष्कर्ष निकाला कि मंगल ग्रह पर कार्बनिक पदार्थ के लगभग 12000 ओलंपिक आकार के पूल हो सकते हैं जो पिछले जीवन के निशान का प्रतिनिधित्व करते हैं।

डोरसेट अत्यधिक अम्लीय सल्फर धाराओं का घर है जो चरम स्थितियों में बढ़ते बैक्टीरिया की मेजबानी करता है। सेंट ओस्वाल्ड की खाड़ी में ऐसा एक पर्यावरण अरबों साल पहले मंगल ग्रह की स्थितियों की नकल करता है। शोधकर्ताओं ने मंगल ग्रह के लिए एक टेम्पलेट के रूप में परिदृश्य बनाया और पास के जमा रॉक में संरक्षित कार्बनिक पदार्थ की जांच की। लौह समृद्ध खनिज गोथेट हेमेटाइट में बदल जाता है जो मंगल ग्रह पर बहुत आम है और यह ग्रह को लाल रंग देता है। यदि यह लौह समृद्ध खनिज पृथ्वी पर जीवन के निशान को पकड़ते हैं तो वे लाल ग्रह पर पिछले माइक्रोबियल जीवन के संकेत प्राप्त कर सकते हैं।

लेखकों ने इन परिणामों को मंगल ग्रह पर्यावरण पर लागू किया। मंगल ग्रह पर एसिड वातावरण से कितनी चट्टान है यह मानते हुए कि मार्टिन तलछटों में पाए जाने वाले फैटी एसिड की सांद्रता पृथ्वी की तुलना में होती है वहां 2.86 × 1010 किलोग्राम फैटी एसिड हो सकता है जो लगभग 12000 ओलंपिक आकार के पूल के मार्टिन रॉक समकक्ष के भीतर संरक्षित। (मार्टिन का मतलब मंगल ग्रह निवासी)

जीवन के निशान खोजने के पिछले मिशनों ने कार्बनिक पदार्थ की उपस्थिति के लिए चट्टान का निरीक्षण करने के लिए गर्मी का उपयोग किया है। वैज्ञानिकों को संदेह है कि गर्मी से खनिज किसी कार्बनिक पदार्थ के साथ प्रतिक्रिया कर सकते हैं। इससे यह साबित होगा की हमें अभी तक जीवन का निशान क्यों नहीं मिला है। दावा किया जा रहा है की 2020 तक मंगल ग्रह पर जीवन की सम्पूर्ण खोज हो जाएगी। किसी भी तरह का सुझाव देने के लिए यह सवाल पूछने के लिए कमेंट करना ना भूलें और एक ही विज्ञान की खबरें पाने के लिए हमें लाइक और फॉलो जरूर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.