बिना बादलों वाले इस ग्रह को देखा क्या?

अंतरिक्ष हमेशा से ही दुनियाभर के वैज्ञानिकों के लिए कौतूहल का केंद्र रहा है। यहां हमेशा कुछ न कुछ हैरान करने वाली बातें होती रहती हैं। अब वैज्ञानिकों ने हमारे सौरमंडल के बाहर एक अनोखे ग्रह का पता लगाया है।

यह ग्रह द्रव्यमान में शनि से भी छोटा है, लेकिन इसका आकार बृहस्पति से 20 फीसदी बड़ा है। इसकी सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इस ग्रह में बादल नहीं हैं। इसका मतलब यह हुआ कि इस ग्रह का आकाश बादलों से मुक्त है।

सूर्य के जैसा

गर्म गैसों वाले इस विशाल ग्रह को डब्ल्यूएएसपी-96बी नाम दिया गया है। यह सूर्य के जैसा तारा है। यह करीब 980 प्रकाश वर्ष दूर है। यह फोनिक्स में स्थित है। चिली में वैज्ञानिकों की एक टीम ने यूरोपियन साउदर्न आॅब्जरवेटरी के विशाल टेलीस्कोप का इस्तेमाल करते हुए इस ग्रह को तब देखा जब यह अपने मूल तारे के सामने से गुजरा।

ऐसे की गणना

इसके आधार पर टीम को इसका अध्ययन करने के लिए जरूरी जानकारी मिल गई। उन्होंने अलग-अलग चीजों की गणना इस आधार पर कर ली कि तारे के प्रकाश में आखिर कितनी कमी आई। प्रमुख शोधकर्ता और ब्रिटेन में यूनिवर्सिटी आॅफ एक्सीटर के निकोलय निकोलोव ने कहा कि हमने करीब 20 से अधिक इस तरह के तारों का अध्ययन किया है, लेकिन इनमें से केवल डब्ल्यूएएसपी-96बी ही है, जिसका आकाश पूरी तरह से बादलों से एकदम रहित है। यहां सोडियम की मौजूदगी साफ नजर आती है।

जर्नल नेचर में हुआ प्रकाशित

जिस तरह से फिंगरफ्रिंट से कई चीजों की पहचान होती है, उसी तरह से ग्रह पर सोडियम के जरिये इस तथ्य की पुष्टि वैज्ञानिकों ने की है। यह शोध जर्नल नेचर में प्रकाशित हुआ है। निकोलोव ने कहा, अब तक ग्रहों पर सोडियम बेहद थोड़ी मात्रा में या फिर पूरी तरह से गायब मिलते थे। इसकी वजह यह थी कि उन ग्रहों पर बादल हुआ करते थे, लेकिन इस ग्रह पर बादलों की गैरमौजूदगी में सोडियम प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। यूनिवर्सिटी आॅफ कैलिफोर्निया सांता क्रूज के प्रोफेसर जोनाथन फोर्टनी, जो अध्ययन के सह-लेखक भी हैं, उन्होंने कहा कि इसके बारे में और अध्ययन के बाद हमें और भी कई जानकारी मिलने की उम्मीद है।

यदि आपको विज्ञान संबंधी यह जानकारी पसंद आयी हो तो इसे लाइक और शेयर करें। साथ ही इस तरह की रोचक जानकारियां आगे भी हासिल करते रहने के लिए हमें फाॅलो करना भी न भूलें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.