नासा ने खोज निकाला चंद्रमा ग्रह का सबसे बड़ा रहस्य, जिसे जानकर आप हैरान हो जाओगे

चंद्रमा पर मिले पानी के ठोस परिमाण-

चंद्रमा पर पहली बार पानी की मौजूदगी के ठोस परिमाण सामने आए हैं चंद्रमा पर हुई यह अब तक की सबसे बड़ी खोज है| चंद्रमा पर पानी की खोज हमारे चंद्रयान के साथ मिलकर करनी थी लेकिन किसी कारणवश ऐसा नहीं हो पाया| चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर पानी खोजने की मिशन की शुरुआत नासा के लूनर ऑर्बिटल चंद्रयान के साथ मिलकर की लेकिन तभी चंद्रयान से रेडियो संपर्क टूट गया चंद्रयान से संपर्क टूट जाने के बाद लूनर ऑर्बिटल में चंद्रमा के दक्षिण ध्रुव पर स्कैनिंग का काम अकेले ही किया| चंद्रमा पर वहां उम्मीद से कहीं ज्यादा हाइड्रोजन की मौजूदगी खोज निकाली है जो कि पानी का मुख्य स्रोत है|

चंद्रमा पर मिला एलियंस का टैंक-

एलियंस के बारे में लंबे समय से चल रही खोजों में अब एक नया मोड़ ले लिया है असल में एलियंस के बड़े सुराग नासा को चंद्रमा पर मिले हैं। जी हां और इनमें से एक टैंक की भी तस्वीर है जिसको नासा ने जारी किया है। इस टैंक को देखने पर आप इसको आसानी से पहचान सकते हैं। यह टैंक चंद्रमा पर रह रहे एलियंस की आर्मी का बताया जा रहा है, पर असल सच अभी तक परदे के पीछे ही है। नासा द्वारा रिलीज की गई इस तस्वीर की असल सच्चाई|

खगोलविदों का कहना है कि यह किसी आश्चर्य से कम नहीं है कि चंद्रमा पर सैन्य टैंक जैसी आकृति दिखाई पड़ रही है। यह टैंक चंद्रमा के खंडरों के बीच में खड़ा है और या आयताकार है जिसको आसानी से देखा जा सकता है, दूसरी ओर यूएफओ विशेषज्ञों का कहना है कि हो सकता है कि यह टैंक एलियंस की आर्मी का हो। हम आपको यह बता दें कि नासा से यह तस्वीर आने के बाद लोगों ने अभी तक सिर्फ अपने अपने विचार ही दिए हैं। असल सच्चाई क्या है यह अभी तक किसी को पता नहीं है|

आप सभी लोग यह जानते होंगे कि नासा ने पहले काफी अपोलो मिशन कर चुका है लेकिन वह चंद्रमा पर अब जाना नहीं चाहता| लेकिन भारत की स्पेस एजेंसी इसरो अब चंद्रमा के अंधेरे भाग में अपना अंतरिक्ष यान भेजने की तैयारी कर रही है| चंद्रमा पर इस यान के पहुंचते ही भारत इस अंधेरे भाग में अपने यान पहुंचाने वाला पहला देश होगा|

यदि आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो हमारे आर्टिकल को लाइक कीजिए शेयर कीजिए और हमें फॉलो कीजिए |

Leave a Reply

Your email address will not be published.