तो इस तकनीक से खोजा जाएगा दूसरे ग्रह पर जीवन

इंसान ने धरती पर तरक्की का पहिया चलाने के बाद अपने प्रगति रथ का रुख अब अंतरिक्ष की ओऱ कर दिया है। तभी तो आए दिन अंतरिक्ष में नए नए अभियान भेजे जाते हैं। कई सालों से दूसरे ग्रहों पर जीवन की तलाश की जा रही है। जी हां, सालों से एलियन इंसान के लिए एक अबूझ पहेली रहे हैं। लेकिन हाल ही में कुछ खगोलविदों ने दूसरे ग्रहों पर एलियन को खोजने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस तकनीक का प्रयोग करने का सफल दावा किया है।

हाल ही में हुए एक नए अध्ययन में वैज्ञानिकों ने यह पाया है कि एलियन का पता लगाने में यह तकनीक काफी कारगर साबित हो सकती है। ब्रिटेन की प्लाइमाउथ विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने कृत्रिम तंत्रिका नेटवर्क (ANNs) का उपयोग करते हुए एलियन की खोज करने का अभियान शुरू किया है। इस तकनीक में ग्रहों को पांच वर्गों में बांटा गया हैं। हम आपको बता दे कि यह वर्गीकरण वर्तमान पृथ्वी, प्रारंभिक पृथ्वी, मंगल, बुध व शनि के चंद्रमा टाइटन के आधार पर किया गया है।

अध्ययन के नतीजे बताते हैं कि इन सभी ग्रहों पर वातावरण में कुछ ज्यादा अंतर नहीं है। सौर मंडल में जीवन के लिए ये सभी ग्रह सर्वाधिक अनुकूल पाए गए हैं। इस कामयाबी के बाद आने वाले समय में रोबोटिक अंतरिक्ष यान भेजे जा सकेंगे। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि एएनएन एक ऐसा तंत्र होता है जो इंसानी दिमाग की तरह काम करने की कोशिश करता है। यह शोध यूरोपियन वीक ऑफ एस्ट्रोनॉमी एंड स्पेस साइंस (EWASS) में प्रस्तुत किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.