अंतरिक्ष के रहस्य खोलेगा नैनो क्राफ्ट,गति सुनकर चौकेंगे आप

अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में प्रगति के बावजूद अब भी ऐसे अनसुलझे रहस्य है जिन्हें जानने के लिए वैज्ञानिक लगातार प्रयास कर रहे है अब सौरमंडल के सबसे करीबी तारे अल्फा सेंटोरी पर अल्ट्रा-लाइट नैनो क्राफ्ट भेजने की तैयारी की जा रही है इसे दुनिया का सबसे महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट बताया जा रहा है स्टार शॉट नाम के इस प्रोजेक्ट में दुनिया भर के देश हिस्सा बनने की कवायद में जुटे है

नैनो क्राफ्ट से कम होगी दूरी-

एक अनुमान के मुताबित हमारा सबसे करीबी तारा अल्फा सेंटोरी तक पहुंचने में एक सामान्य स्पेसक्रॉफ्ट को 3000 वर्षों का समय लगेगा लेकिन अल्ट्रा-लाइट नैनो क्राफ्ट के जरिये यह समय घटकर 20 वर्ष हो जाएगा

प्रकाश की गति से भी तेज-

इस तकनीक में जिन नैनो क्राफ्ट की बात की जा रही है उनकी साइज एक सामान्य मोबाइल के समान होगी नैनो क्राफ्ट को ऐसा बनाया जाएगा जिससे कि यह यान प्रकाश की गति से कम से कम 20 फीसदी अधिक तेजी से उड़ान भर सके स्टीफन हॉकिंग ने स्टार शॉट प्रोजेक्ट को लेकर कहा कि सितारों और हमारे बीच के शून्य को भरने के तैयार है लेकिन हम हल्के स्पेसक्रॉफ्ट बनाकर ये कर दिखाएंगे

भारत निभा सकता है महत्वपूर्ण भूमिका-

खगोलशास्त्री बोडेन के अनुसार भारत की तरक्की ने यह साबित कर दिया है कि भारत इस अभियान में बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है उन्होंने बताया कि हम अभी जिस यान से मंगल पर पहुंचते है उसमें भी 8 से 9 महीने लगते है परंतु बाद में इस तकनीक के जरिये हम मंगल पर 30 मिनट में पहुंचा जा सकता है इस प्रोजेक्ट से ब्रह्मण्ड के अनसुलझे रहस्यों के साथ जीवन की खोज भी की जाएगी खगोलशास्त्री बोडेन ने कहा कि उन्होंने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ एस्ट्रोफिजिक्स बेंगलुरु के दौरा किया था उस वक्त भारतीय वैज्ञानिकों ने इस प्रोजेक्ट को लेकर खासा उत्साह दिखाया है एक बार फिर से बोडेन इस अभियान की सफलता के लिए भारत आयेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published.